Bhulekh BhuNaksha » जमीन रजिस्ट्री » रजिस्ट्री रद्द करने की प्रक्रिया क्या है

रजिस्ट्री रद्द करने की प्रक्रिया क्या है

रजिस्ट्री रद्द करने की प्रक्रिया क्या है registry cancellation process : जब हम कहीं शहर या ग्रामीण क्षेत्र में कोई जमीन लेते हैं तो उसकी रजिस्ट्री करवाना बहुत जरूरी हो जाता है क्योंकि वर्तमान समय में जमीन की रजिस्ट्री करते समय कई सारे फर्जीवाड़ा होते रहते हैं।

जिस वजह से आम नागरिकों को कई सारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। जब ऐसा फर्जीवाड़ा होता है तो ऐसी रजिस्ट्री को रद्द करवा दिया जाता है। जिससे कई सालों तक यहां के हाई कोर्ट तथा जिला न्यायालय में मामला चलते रहता है।

इसी महत्व को देखते हुए आज हम इस लेख में Registry radd karne ki prakriya kya hai के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान करेंगे। तथा यह भी बताएंगे कि जमीन की रजिस्ट्री क्या होती है और इसका उद्देश्य क्या है, इन महत्वपूर्ण बिंदुओं पर आपका ध्यान केंद्रित करेंगे तो आइए शुरू करते हैं।

registry-cancellation-process

जमीन की रजिस्ट्री क्या होती हैं ?

जब हम किसी जमीन को खरीदते हैं तो उसके वर्तमान मालिक के नाम से जमीन होती है अतः उसे अपने नाम पर Transfer करने की प्रक्रिया को जमीन की रजिस्ट्री कहा जाता है।  यदि सरल भाषा में कहा जाए तो यह एक ऐसी प्रक्रिया है जहां पर जमीन का अधिकार एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को दिया जाता है।  इस प्रक्रिया में सरकारी कार्य नगर पालिका या तहसील कार्यालय के अंतर्गत किया जाता है। 

इसमें जमीन से संबंधित एक अधिकारी होता है जिसे रजिस्टार कहा जाता है।  वह इस प्रक्रिया को पूरा करने में महत्वपूर्ण रोल निभाता है।  यह पूरी प्रक्रिया भू राजस्व विभाग के द्वारा किया जाता है।  इसमें बहुत सारे दस्तावेजों तथा कुछ गवाहों की आवश्यकता होती है।

जमीन की रजिस्ट्री का उद्देश्य

वर्तमान समय में कई सारे ऐसे केस आ चुके हैं जिसमें लोगों को गलत रजिस्ट्री करवा कर उनकी जमीन हड़प लेते हैं।  इसी के साथ शहर में जो बिल्डिंग बनाई जाती है उन में स्थित फ्लैट को गलत तरह से अपने नाम किया जाता है जिस वजह से कानूनी कार्रवाई करना पड़ता है।  इन्हीं समस्याओं को दूर करने के लिए रजिस्ट्री एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया होती है। 

इसका उद्देश्य है कि जब भी ऐसी स्थिति बनती है तो गलत कार्य करने वाले लोगों पर कानूनी कार्रवाई करके उनको सजा दिला सके। तथा वह जमीन या फ्लैट जिसके नाम पर करना चाहते हैं, उसके नाम पर किया जा सकता है।  इसमें तहसील कार्यालय तथा भू राजस्व विभाग के अधिकारी स्टांप पेपर के माध्यम से यह सारी प्रक्रिया पूरी करते हैं।

रजिस्ट्री रद्द करने की प्रक्रिया क्या है ?

रजिस्ट्री रद्द करने की प्रक्रिया बहुत ही आसान तथा सरल है। इसे कोई भी व्यक्ति करवा सकता है। इसके लिए आपको निम्नलिखित स्टेप्स फॉलो करने होंगे जो इस प्रकार है –

  • पहले आपको रद्द करने के लिए आवेदन फॉर्म तैयार करना होगा।
  • यह आवेदन फॉर्म भू राजस्व विभाग से प्राप्त हो जाएगा।
  • इस फॉर्म में आपको अपनी सारी जानकारी दर्ज कर देनी है तथा वहां पर रजिस्ट्री रद्द करने का कारण भी लिखना होगा।
  • उसके बाद महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अटैच करना होगा।
  • आप आवेदन फॉर्म तथा दस्तावेज रजिस्टर के पास जमा कर देना है।
  • रजिस्टार उन सारे दस्तावेजों को सिविल कोर्ट में भेज देगा।
  • इसके बाद आपको कोर्ट आकर रजिस्ट्री रद्द करने का कारण बताना होगा।
  • इसके बाद कुछ प्रक्रिया होने के पश्चात रजिस्ट्री को रद्द करवा दिया जाएगा।
  • इस तरह से बड़ी आसान सी प्रक्रिया अपनाकर आप रजिस्ट्री रद्द करवा सकते हैं।

रजिस्ट्री कब रद्द होती है ?

इन निम्नलिखित कारण की वजह से रजिस्ट्री रद्द हो सकती है –

  • यदि संपत्ति बेचने वाला व्यक्ति उसे खरीदने वाले व्यक्ति को बिना सूचना दिए ही रजिस्ट्री की प्रक्रिया को रद्द करने की प्रक्रिया करता है तो उस स्थिति में रजिस्ट्री रद्द हो सकती है।
  • जब किसी संपत्ति या जमीन का वास्तविक मालिक ना हो और उसे अन्य कोई व्यक्ति रजिस्ट्री करवाना चाहता है तो तब यह स्थिति उत्पन्न हो जाती हैं।
  • निश्चित समयके लिए किसी व्यक्ति के लिए दिए गया समय पूरा नहीं होने पर उस संपत्ति को रोक दिया जाता है और उसकी रजिस्ट्री भी रद्द कर दी जाती है।
  • रजिस्ट्री के दस्तावेजों में कमी या गड़बड़ी देखता है तो उस समय रजिस्ट्री रद्द हो सकती हैं।
  • संपत्ति का मालिक तथा उसे खरीदने वाला व्यक्ति के बीच में पेमेंट का ना मिलना तब भी यह कारण पैदा हो सकता है।
  • ज्यादा पैसों के लालच में लोग रजिस्ट्री में अधिक पैसे दिखा देते हैं जिस वजह से यह रजिस्ट्री रद्द हो जाती है।
  • जब फर्जीवाड़ा की वजह से लोग सिविल कोर्ट में जाते हैं तो तब यहां यह प्रक्रिया की जाती हैं।

रजिस्ट्री रद्द करने हेतु आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड नंबर।
  • 500 का स्टाम्प पेपर।
  • जमीन के कागजात।
  • खसरा नक्शा।
  • खतौनी नंबर।
  • मूल निवास प्रमाण पत्र।
  • पहचान पत्र।
  • पासपोर्ट साइज की फोटो।
  • जमीन के कागजात।

जमीन विवाद हेतु कानूनी सलाह

जमीन का एग्रीमेंट कैसे होता है

क्या किराएदार मकान पर कब्जा कर सकता है

पुश्तैनी जमीन का बंटवारा कैसे करें

बाप दादा की प्रॉपर्टी में किसका कितना अधिकार

सामान्य प्रश्न (FAQ)

रजिस्ट्री कितने दिन में कैंसिल हो जाती है ?

रजिस्ट्री लगभग 15 दिन से लेकर 10 साल तक कैंसिल हो सकती है। यह अलग-अलग कार्यप्रणाली पर निर्भर करती है।

रजिस्ट्री में संशोधन कैसे करें ?

यदि कोई त्रुटि हो जाती है, तो उसे रजिस्ट्रार कार्यालय के माध्यम से ठीक किया जा सकता है।

जमीन की रजिस्ट्री होने के बाद रद्द कर सकते हैं क्या?

जी हां ! यदि आप की जमीन की रजिस्ट्री होगी गई है, तब भी आप उसे रद्द करा सकते हैं।

सारांश –

आशा करता हूं मेरे द्वारा दी गई जानकारी से आप संतुष्ट होंगे। इस लेख का उद्देश्य रजिस्ट्री रद्द करने की प्रक्रिया क्या है के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान करना है। हमने इस लेख में रजिस्ट्री रद्द करने की प्रक्रिया से लेकर अन्य महत्वपूर्ण बिंदुओं पर जानकारी दिया है। यदि यह लेख पसंद आता है तो अपने दोस्तों तथा परिवार के सदस्य के साथ अवश्य साझा करें। ताकि उन्हें भी इस प्रक्रिया के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके।

शेयर करें :

अपनी समस्या या सुझाव यहाँ लिखें